सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग पर पाया गया काबू, 'कोविशील्‍ड' वैक्‍सीन का निर्माण नहीं

सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग पर पाया गया काबू, ‘कोविशील्‍ड’ वैक्‍सीन का निर्माण नहीं होगा प्रभावित

Spread the love

पुणे/दिल्‍ली: पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute In Pune) में निर्माणाधीन इमारत में गुरुवार को लगी लगी आग (Fire) पर काबू पा ल‍िया गया है. आग लगने से सीरम इंस्‍टीट्यूम में बनने वाली कोविड-19 ‘कोविशील्‍ड’ वैक्‍सीन का निर्माण प्रभावित नहीं होगा.सीरम इंस्‍टीट्यूट की ओर से विकसित इस वैक्‍सीन का निर्माण ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश-स्‍वीडिश फॉर्मा कंपनी एस्‍ट्राजेनेका के सहयोग से किया जा रहा है..

UP : कोविड-19 वैक्सीन लगवाने के बाद हॉस्पिटल के वार्ड बॉय की मौत, अधिकारी बोले- वैक्सीन वजह नहीं

सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) देश ही नहीं दुनिया का सबसे बड़ा वैक्‍सीन निर्माता है, इसका परिसर करीब 100 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है. जिस मंजरी कॉम्‍पलेक्‍स में आग लगी थी, वह वैक्‍सीन फैकल्‍टी के स्‍थान से कुछ मिनट की ही दूरी पर है. सूत्रों के अनुसार, इसे स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन का हिस्‍सा माना जा रहा है.भविष्‍य की महामारियों से निपटने के लिए मंजरी कॉम्‍पलेक्‍स में आठ-नौ भवनों का निर्माण किया जा रहा है, इसका उद्देश्‍य SII की वैक्‍सीन निर्माण क्षमता को बढ़ाना है. सामने आए विजुअल्‍स में इमारत से धुआं उठता हुआ देखा गया था.

video देखें

फायर डिपोर्टमेंट के एक अधिकारी ने बताया, ‘बिल्डिंग के अंदर चार लोग थे, ज‍िन्‍हें सुरक्षित  निकाल लिया गया है. धुएं के गुबार के कारण आग को नियंत्रण में करने में मुश्किल आ रही थी.’ यह अभी स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि आग कैसे लगी. बड़े पैमाने पर चल रहे निर्माण कार्य को भी इससे जोड़कर देखा जा रहा है. गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले साल नवंबर में सीरम इंस्‍टीट्यूट का दौरा किया था और वैक्‍सीन निर्माण की प्रगति का जायजा लिया था.

देश में 16 जनवरी से कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है. दुनिया में यह सबसे बड़ा कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान है.देश में दो वैक्सीन- भारत बायोटेक की कोवैक्‍सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्‍ड के इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति दी गई है, जिसे पहले हेल्थकेयर वर्कर्स को लगाया जा रहा है.

dainik24news.com हिन्दी के site के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटर,पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *