TRP-रैकेट-का-भंडाफोड़-जानें-रिमांड-कॉपी-में-क्या-है

कोर्ट ने चार आरोपियों को 13 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में भेजा TRP रैकेट का भंडाफोड़: जानें रिमांड कॉपी में क्या है?

Spread the love

मुंबई: पुलिस ने TRP रैकेट का भंडाफोड़ करने का दावा किया है. TRP रैकेट में गिरफ्तार 4 आरोपियों विशाल भंडारी, बोमपेली राव मिस्त्री , शिरीष सतीश पट्टनशेट्टी और नारायण शर्मा को शुक्रवार को कोर्ट में रिमांड के लिए भेजा गया. इनसे दूसरे चैनल के नाम, बैंक खातों की जानकारी और इस TRP फर्जीवाड़े से जुड़े दूसरे आरोपियों की जानकारी जुताई जाएगी.

विशाल भंडारी मई 2020 तक इस मामले में शामिल था

विशाल भंडारी इस गोरखधंधे में नवंबर 2019 से मई 2020 तक शामिल था. विशाल भंडारी ने तेजल सोलंकी नाम की महिला से मुलाकात की और 2 घंटे दिन में इंडिया टुडे देखने को कहा. अवैध व गैर कानूनी काम करने लगा. इसने अपने काम का गलत इस्तेमाल किया इसलिए जब इस मामले की जांच शुरू हुई तो उसे नौकरी छोड़ने के लिए कह दिया गया.

अन्य न्यूज़ पढ़ें click here

वह बोमपेली राव मिस्त्री के लिए काम करता था और उससे 20000 रुपए लेता था रिमांड कॉपी के मुताबिक, आरोपी विशाल भंडारी ने पूछताछ में यह कुबुल किया , उसके एवज में 8-10 घरों में जहां बेरोमीटर लगा हो वहां जाकर ‘फक्त मराठी’ और ‘बॉक्स सिनेमा’ देखने को कहता था जिसके बदले उन घरों को 400 रुपए महीना देता था.

मुंबई क्राइम ब्रांच द्वारा दायर रिमांड कॉपी के मुताबिक, विनय त्रिपाठी नामक व्यक्ति ने विशाल भंडारी नाम के शख्स को 5 घरों में इंडिया टुडे चैनल को कम से कम 2 घंटे देखा जाए इसलिए प्रत्येक घर मे 200 रुपए महीना दिया गया. जबकि विशाल को 5000 रुपए कमीशन दिया गया.

 मुंबई पुलिस ने विशाल भंडारी से उगलवाया सच

रिमांड कॉपी के मुताबिक, विशाल भंडारी ने यह भी बताया की रॉकी नाम का व्यक्ति ‘रिपब्लिक न्यूज़’ चैनल ज्यादा से ज्यादा देखने के लिए पैसे दिया करता था. पुलिस के मुताबिक जब BARC से इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने रिपब्लिक टीवी के संदिग्ध व्यूज के बारे में डिटेल्स मुंबई पुलिस को दी हैं.

रिमांड कॉपी के मुताबिक, आरोपी नंबर 2 बोमपेली राव मिस्त्री ने पूछताछ में बताया की रिपब्लिक टीवी  क्राइम ब्रांच द्वारा शिरीष सतीश पट्टनशेट्टी और नारायण शर्मा से पूछताछ के बाद और सबूत मिलने के बाद गिरफ्तार किया गया है.

मुंबई पुलिस रॉकी को ढूंढ़ने में लगी है

मुंबई पुलिस ने अपने रिमांड में रॉकी के बारे में जिक्र किया है, जिसने आरोपी विशाल से लोगों से अपने घरों में रिपब्लिक टीवी देखने के लिए कहने को कहा था. लेकिन मुंबई पुलिस अभी भी इस बात का पता नहीं लगा पाई है कि ये रॉकी कौन है.  क्राइम ब्रांच द्वारा शिरीष सतीश पट्टनशेट्टी और नारायण शर्मा से पूछताछ के बाद और सबूत मिलने के बाद गिरफ्तार किया गया है.

Facebook न्यूज़ पढ़ें click here


Spread the love